About Me

इस साईट में शामिल हो

Monday, 12 September, 2011

शायरी का किमा

गरीबी से तंग आकर
प्यार का नाटक रचाकर
गाँव के एक नवयुवक ने
गाँव से एक लड़की भगाई
वह स्वभाव से थी रसमलाई
उसे बेचने वह ले गया दिल्ली
रास्ते में दरोगा जी टकराए
वे दोनों सकपकाए,पाँव पकड़ गिड़गिडाये
दरोगा ने उनकी एक न सुनी उल्टे कहा-
तुम साले ऐसे काम करते हो
ऊपर वाले से नही डरते हो
ना जाने किस बहाने उन दोनों को ले गए थाने
लड़की को थाने में रोककर भगा दिया लड़के को मारपीटकर
अगले दिन चटपटी खबर सुनकर सारा मुहल्ला जाग गया
जब लड़की को लेकर दरोगा भाग गया!!

1 comment: